बिहार के किस इलाके में लगाया जा रहा 5जी टावर

Blog Technology

पिछले कुछ सालों के भीतर भारत में मोबाइल नेटवर्क में 4जी सेवा के जरिए एक बड़ा बदलाव हमने देखा है, लेकिन अब बारी है 5जी की जो की 4जी से कई गुना तेज और बेहतर है। फिलहाल देश के अलग अलग जगहों पर 5जी की टेस्टिंग चल रही है और इसके नतीजे भी आने शुरू हो गए हैं।

टेलीकॉम कंपनियां अपने नेटवर्क टावर को भी अपग्रेड करने की दिशा में काम शुरू कर दिया है।मोबाइल कंपनियों ने बिहार में भी 5जी सेवा लांच करने की तैयारी शुरू कर दी है जिसके लिए 4जी टावरों को नए उपकरणों के जरिए 5जी के लिए अपग्रेड किया जा रहा है।

बिहार में 5जी की शरुआत

बिहार के लिए खुशखबरी यह है कि यहां 5जी टावर लगाने की शुरुआत कर दी गई है। मोबाइल नेटवर्क सेवा प्रदान करने वाली दो प्रमुख कंपनियां एयरटेल और रिलायंस जियो द्वारा बिहार मे 5जी लांचिंग से पहले की कई सारी तैयारियां शुरू की जा चुकी है। दोनों कंपनियों का कहना है कि सबसे पहले राजधानी पटना और आसपास के इलाकों में इस सर्विस को लांच किया जाएगा।

ग्रामीण कर रहे हैं विरोध

वहीं बिहार में 5जी टावर को लेकर ग्रामीणों का भी गुस्सा देखने को मिल रहा है। बेगूसराय जिले के वीरपुर पश्चिम पंचायत के वार्ड संख्या 13 केलाबारी टोले में लगे नवनिर्मित 4जी टावर में 5जी उपकरण लगाने की तैयारी की जा रही थी, लेकिन रविवार को ग्रामीणों ने इसका विरोध किया। इस विरोध के बीच अफवाह नाम की चीज सामने आ रही है। लोगों में 5जी को लेकर कई अफवाह सुनने को मिल रहा है।

वातावरण प्रदूषण को लेकर चिंता

ग्रामीणों के बीच वातावरण के प्रदूषण को लेकर चिंता बनी हुई है। लोगों का कहना है कि अगर 5जी के टावर लगाए जाएंगे तो वातावरण को बहुत नुकसान होगा जो की मानव जाति के लिए सही नही है। वहीं ग्रामीणों को यह भी कहना है कि दो ढाई माह पूर्व जब गांव में 4जी टावर लगा था तो गाँव के लोगों द्वारा यहां टावर लगाने से मना किया गया था। तब वीरपुर पुलिस पदाधिकारी द्वारा ग्रामीणों के साथ समझौता किया था और कहा गया था कि यहां सिर्फ 4जी टावर लगेगा। पर अब यहां 5जी टावर लग रहा है।

अब देखने वाली बात होगी कि बिहार में 5जी टावर को लगाने में कम्पनियों को किन-किन चुनौतियों से गुजरना पड़ता है।

0Shares